श्री महालक्ष्मी जगदम्बा संस्थान

जानकारी और यात्रा

01

मंदिर

भारत अपने अध्यात्मिक ज्ञान के कारण विश्वगुरुपदपे विराजमान हैं। भारत में सर्वदूर प्राचीन,भव्य एवं पवित्र मंदिर हैं। माँ जगदम्बा के ५१ शक्तीपीठ प्रसिद्ध हैं। कोराडी का श्री महालक्ष्मी जगदम्बा मंदिर उनमें से एक है।

आगे पढ़े

02

इतिहास

जाखापुरनरेश झोलन के सात पुत्र थे - जनोबा, नानोबा, बानोबा, बैरोबा, खैरोबा, अग्नोबा, दत्तासूर| परंतु एक भी पुत्री ना होने के कारण राजा दुखी थे|अत: राजाने यज्ञ, होम, हवन, पूजा करके ईश्वर से कन्याप्राप्ति का वर माँगा|

आगे पढ़े

03

देवी माँ

यह व्यापक रूप से माना जाता है कि कोराडी माता, या देवी जगदम्बा माँ असाध्य रोगों को ठीक करती है और अच्छे स्वास्थ के लिए आशीर्वाद देती है | वह शांति और समृद्धि का आशीर्वाद अपने बच्चों को देती है।

आगे पढ़े

04

दृष्टी

संस्थान के पदाधिकारी एवम् ज्येष्ठों की विचारादृष्टि से मंदिर परिसर का विकास संभव हुआ| निकट भविष्य में मंदिर परिसर को अधिक सुंदर बनाने व भक्तों के लिए अधिकाधिक सुविधा उपलब्ध कराने का मंदिर कमिटी का मानस है|

©2018 सभी अधिकार सुरक्षित -श्री महालक्ष्मी जगदंबा संस्थान, कोराडी।